Uncategorized उत्तराखंड देश

उत्तराखंड के लाल कैप्टन रक्षित भैसाड़ा का पार्थिव शरीर देख पुरे देश की आँखें हुई नम

जम्मू में बुधवार की रात कार पलटने के कारण रक्षित की मृत्यु हो गई थी । और इस कार एक्सीडेंट में मृत उत्तराखंड के नौजवान कैप्टन रक्षित भैसाड़ा मौत हो गई .

  • जिसके बाद का उत्तराखंड के लाल कैप्टन रक्षित भैसाड़ा का पार्थिव शरीर देख पुरे देश की आँखें हुई नम  शुक्रवार की तड़के तीन बजे हल्द्वानी पहुंचा और राजकीय मेडिकल कॉलेज की मोर्चरी में रखवाया गया।

  • जिसकी खबर के बाद से घर में मातम का माहौल है । परिजनों के अंतिम दर्शन के बाद कैप्टन की शवयात्रा रानीबाग स्थित चित्रशिला घाट पहुंची। जहाँ उनका सैन्य सम्मान के साथ अंत्येष्टि की गई।।

  • कैप्टन रक्षित भैसाड़ा अल्मोड़ा जिले के ग्राम भैसाड़ी, बिनखोला, ध्याड़ी निवासी शिक्षक नंदन सिंह भैसोड़ा के इकलौते पुत्र थे

  • रक्षित भैसोड़ा की उम्र मात्र 23 थी , वे सेना की 21 जाट रेजीमेंट में कैप्टन थे। जम्मू में बुधवार की रात कार पलटने के कारण रक्षित की मृत्यु हो गई।

  • वे अपने पिता के इकलौते बेटे थे। जब उनका पार्थिव शरीर पहुंचा तोह मां दीपा भैसोड़ा, पिता नंदन सिंह व बहन नेहा व अन्य परिजनों का रो रो कर बुरा हाल था।

About the author

pyarauttarakhand5